भारत-चीन विवाद के बीच अचानक लेह पहुंचे पीएम मोदी , सेना प्रमुख और सीडीएस भी मौजूद

बीएमपी टाइम्स, नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर चीन से जारी तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अचानक लेह दौरे पर पहुंचे. यहां उन्होंने लद्दाख के नीमू पोस्ट में थलसेना और वायुसेना के जवानों से मुलाकात की. उनके साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ(सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी मौजूद हैं. बता दें कि सिंधु नदी के तट पर 11,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित नीमू सबसे दुर्गम स्थानों में से एक है. पीएम मोदी यहां पहुंचे और जवानों से मुलाकात की.पहले इस दौरे पर सिर्फ सीडीएस बिपिन रावत को ही आना था, लेकिन पीएम मोदी ने खुद पहुंचकर सभी को चौंका दिया. यहां पर सीनियर अधिकारियों ने उन्हें हालात की जानकारी दी. एएनआई के मुताबिक, नीमू पोस्ट समुद्री तल से 11 हजार फीट की ऊंचाई पर मौजूद है, जिसे दुनिया की सबसे ऊंची और खतरनाक पोस्ट में से एक माना जाता है. पीएम मोदी ने सुरक्षाबलों, वायुसेना के अफसरों से सीधे संवाद भी किया. माना जा रहा है कि लद्दाख में तैनात सुरक्षाबलों का हौसलाफजाई के लिए पीएम मोदी का यह दौरा हुआ है.जानकारी मिली है कि गलवान घाटी में घायल हुए जवानों से पीएम अस्पताल में मुलाकात भी करेंगे. इसके बाद दोपहर में पीएम वापस दिल्ली लौट सकते हैं. पीएम मोदी का यह लेह दौरा बहुत अहम माना जा रहा है. 11,000 फीट की ऊंचाई पर पहुंचना चीन के लिए बहुत सख्त संदेश है. वहीं चीन में राष्ट्रपति शी जिनपिंग की आलोचना हो रही है. कहा जा रहा है कि जिनपिंग ने अपने सैनिकों की शहादत को छुपाया और उन्हें मरने के बाद भी पूरा सम्मान नहीं दिया.   

Leave a Reply