मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता – रविशंकर प्रसाद

ravishankar

बीएमपी टाइम्स,नई दिल्ली। चीन से विवाद पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, “मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता है।”उन्होंने बुधवार को एक सवाल के जवाब में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को गैर जिम्मेदार व्यक्ति बताते हुए कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारत के हित में हमेशा फ्रंटफुट पर खेलते हैं और खेलते रहेंगे। रविशंकर प्रसाद ने कहा, “भारत के प्रधानमंत्री में निर्णय लेने की हिम्मत को पूरी दुनिया ने देखा है। जब कोविड-19 समाप्त होगाए तब विचार करना होगा कि ऐसे विविधता भरे देश में उनके आग्रह को पूरे देश ने कैसे स्वीकार किया। राहुल गांधी देश के संकल्प को कमजोर करने में लगे हुए हैं।”रविशंकर प्रसाद ने ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस के दौरान भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही जंग की सफलता को आंकड़ों के जरिए बताते हुए कहा, “भारत की आबादी 137 करोड़ है और हमारे देश में 4,345 लोगों की मृत्यु हुई है और 64 हजार से ज्यादा रिकवरी हुई है। जबकि दुनिया के टॉप 15 देशों की कुल जनसंख्या 142 करोड़ हैं और वहां तीन लाख से ज्यादा मौतें हुईं हैं। प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन करके जो देश को एकजुट किया है, ये उसकी का नतीजा है।” रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी आईसीएमआर पर भी आरोप लगाते हुए कहते हैं कि इसके द्वारा खरीददारी में गड़बड़ी हुई है। पहली बार आईसीएमआर को सफाई देनी पड़ी कि हमने ऐसी कोई खरीददारी नहीं की है। हमने न्यूनतम दामों में खरीददारी की। राहुल गांधी राजनीतिक विरोध में ऐसी संस्थाओं पर भी झूठे आरोप लगाने लगे हैं। रविशंकर प्रसाद ने कहा, “राहुल गांधी पांच प्रकार से देश के संकल्प को कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं। वह नकारात्मकता फैला रहे हैं। संकट के समय राष्ट्र के खिलाफ काम करते हुए झूठा श्रेय लेने की कोशिश करते हैं। कहते कुछ और हैं करते कुछ हैं। झूठी खबरें भी फैलाते हैं।”रविशंकर प्रसाद ने कहा, “कांग्रेस नेता राहुल गांधी की बात को कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी नहीं सुन रहे हैं। राहुल गांधी लॉकडाउन पर सवाल उठाते हैं। मगर पंजाब और महाराष्ट्र सरकारों ने 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का प्रस्ताव दिया। आखिर वह अपने मुख्यमंत्रियों को यह बात क्यों नहीं समझा पाए। राहुल गांधी आरोग्य सेतु ऐप पर सवाल उठाते हैं, मगर महाराष्ट्र और पंजाब ने महाकवच नामक ऐप के इस्तेमाल पर जोर दिया है। क्या ये ऐप सर्विलांस कर रहे हैं। राहुल गांधी श्रम कानूनों पर सवाल उठाते हैं मगर राजस्थान में काम के 12 घंटे करने की तैयारी चल रही है। आखिर राहुल गांधी की बात उनके मुख्यमंत्री क्यों नहीं मान रहे हैं।”रविशंकर प्रसाद ने कहा, “आरोग्य सेतु को आज देश के 11 करोड़ से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड कर लिया है। हमने इसका ओपन सोर्स भी कर दिया है। अगर आप किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए ये आपको सावधान करता है। ये प्राइवेसी के मामले में भी पूरी तरह सुरक्षित है।”

Leave a Reply